Cover

शादी के लिए बचाए पैसे से गरीबों को खाना खिलाने वाला रिक्शा ड्राइवर बना लोगों की आंखों का तार

The rickshaw driver who fed the poor with money saved for marriage, became the eyes of the people.

पुणे: महाराष्ट्र के पुणे में अपनी शादी के वास्ते बचाया गया पैसा प्रवासी श्रमिकों को खाना खिलाने पर खर्च करने पर एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर देशभर में लोगों की आंखों का तारा बन गया है और कई लोगों ने उसकी मदद के लिए अपनी जेब ढीली की है। लेकिन, ऑटोरिक्शा ड्राइवर (30) अक्षय कोठवाले उसे मदद के तौर पर मिले पैसे का यहां जरूरतमंद और गरीबों को खाना खिलाने और राशनकिट देने पर खर्च कर रहा है। कोठवाले ने कहा कि वह उसे मिले अपार सहयोग के प्रति आभारी है और उसे पुणे की सड़कों पर जरूरतमंदों की मदद जारी रखने के लिए और प्रोत्साहन मिला है। उसने अपनी शादी के वास्ते दो लाख रूपये बचाये थे । उसकी शादी 25 मई को होने वाली थी लेकिन कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते स्थगित हो गयी।

गरीबों खासकर प्रवासी श्रमिकों को तो काम और न ही आमदनी के कारण हो रही कठिनाइयों से उसे बहुत दुख हुआ। ऐसे में उसके पास जो पैसे थे, उससे उसने इन मजदूरों के वास्ते खाना पकाने के लिए अपने कुछ दोस्तों के साथ मिलकर रसोई स्थापित की और यहां कई स्थानों पर खाना परोसा। इसी बीच, पिछले महीने उसके पिता की मौत हो गयी लेकिन यह त्रासदी भी उसका निश्चय नहीं डिगा सकी एवं उसने अपनी यह पहल जारी रखी। कोठवाले की इस नेकनीयती को देखकर देशभर से कई लोगों ने उसकी मौद्रिक सहायता की।

उसने कहा, मुझे देशभर के लोगों से छह लाख रूपये मिले हैं। मैं इस सदाशयता के लिए लोगों का आभारी हूं जिन्होंने हमारी पहल की खबर पढ़कर मदद का हाथ बढ़ाया। उसने कहा कि उसे जो पैसे मिले हैं, उससे वह कई इलाकों मे भोजन वितरण जारी रखेगा। उसने कहा, हमारे हाथ में जो पैसे आये हैं, हमने उससे थॉकबाजार से किराना के जरूरी सामान और पके हुए भोजन खरीदे। हम जरूरतमंदों के बीच राशनकिट बांटने की योजना बना रहे हैं। कोठवाले भोजन वितरण के अलावा वरिष्ठ नागरिकों, गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर तक मुफ्त में अपने ऑटोरिक्शा से पहुंचाता भी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy