Cover

एक दिन में सर्वाधिक सात लाख टेस्टिंग, कुल दो करोड़ 41 हजार से ज्यादा हुए टेस्ट

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस की टेस्टिंग काफी तेजी से बढ़ रही है। इस वजह से मरीज तेजी से ठीक हो रहे हैं। शनिवार को देश में कोरोना से रिकॉर्ड सात लाख 19 हजार 364 सैंपल टेस्ट हुए।इससे एक दिन पहले पांच लाख 98 हजार 778 सैंपल टेस्ट हुए थे। इसके साथ कुल टेस्टिंग की संख्या दो करोड़ 41 लाख छह जार 535 हो गई है। आइसीएमआर में वैज्ञानिक और मीडिया समन्वयक  लोकेश शर्मा ने जानकारी दी है कि भारत प्रति मिनट कोरोना का पता लगाने के लिए लगभग 500 टेस्ट कर रहा है और प्रति दिन टेस्टिंग की क्षमता पांच लाख से अधिक हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि ज्यादा टेस्टिंग की वजह से रोजाना केस भी तेजी से बढ़ेंगे।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए राज्यों को ज्यादा से ज्यादा ट्रैकिंग, आइसोलेशन और प्रभावी उपचार पर दृढ़ता से ध्यान केंद्रित करने की सलाह दी गई है। इसने यह भी कहा गया है कि इस तरह के दृष्टिकोण ने परिणाम दिखाना शुरू कर दिया है। यही कारण है कि रिकवरी रेट भी तेजी से बढ़ रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार ज्यादा टेस्टिंग की वजह से रिकवरी रेट में छह जून से आठ अगस्त के भीतर 20 फीसद का इजाफा हुआ है। इस अवधि में रिकवरी रेट  48.2 फीसद से बढ़कर 68.3 हो गया है।

बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे जारी आकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोरोना के सर्वाधिक 64 हजार 399 मामले सामने आ गए हैं और 861 लोगों की मौत हो गई है। लगातार तीसरे दिन देश में कोरोना के 60 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। देश में अब तक कुल 21 लाख 53 हजार 011 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से छह लाख 28 हजार 747 एक्टिव केस है। 14 लाख 80 जार 885 मरीज ठीक हो गए हैं और 43 हजार 379 मरीजों की मौत हो गई है। देश में कोरोना से मत्यु दर 2.01 फीसद हो गया है। एक्टिव केस 29.20 फीसद है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy