Cover

पीएम मोदी ने किया OFC का उद्घाटन, कहा- बेहतर नेट कनेक्टिविटी पर्यटन स्थल की पहली प्राथमिकता

नई दिल्ली। चेन्नई और पोर्ट ब्लेयर के बीच समुद्र के भीतर बिछायी गई केबल संपर्क सुविधा (ओएफसी) का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन किया। इस परियोजना की आधारशिला पीएम मोदी ने 30 दिसंबर 2018 को पोर्ट ब्लेयर में रखी थी। पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि ऑनलाइन पढ़ाई हो, टूरिज्म से कमाई हो, बैंकिंग हो, शॉपिंग हो या टेली-मेडिसिन दवाई हो,अब अंडमान निकोबार के हजारों परिवारों को ये सभी सुविधाएं ऑनलाइन मिल पाएंगी। आज अंडमान को जो सुविधा मिली है, उसका बहुत बड़ा लाभ वहां जाने वाले पर्यटकों को भी मिलेगा। बेहतर नेट कनेक्टिविटी आज किसी भी पर्यटन स्थल की सबसे पहली प्राथमिकता हो गई है।

पीएम मोदी ने कहा कि जितना बड़ा ये प्रोजेक्ट था, उतनी ही विराट चुनौतियां थीं। ये भी एक वजह थी कि बरसों से इस सुविधा की जरूरत महसूस होते हुए भी इस पर काम नहीं हो पाया था, लेकिन मुझे खुशी है कि सारी रुकावटों को किनारे करके इस काम को पूरा किया गया। समंदर के भीतर करीब 2300 किलोमीटर तक केबल बिछाने का ये काम समय से पहले पूरा करना, अपने आप में बहुत प्रशंसनीय है। गहरे समंदर में सर्वे करना, केबल की क्वालिटी मेनटेन रखना, विशेष जहाजों के जरिये केबल को बिछाना इतना आसान भी नहीं है।

ईज ऑफ लिविंग के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का प्रतीक

पीएम मोदी ने इस दौरान यह भी कहा कि अंडमान-निकोबार को बाकी देश और दुनिया से जोड़ने वाला ये ऑप्टिकल फाइबर प्रोजेक्ट, ईज ऑफ लिविंग के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का प्रतीक है। चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर, पोर्ट ब्लेयर से लिटिल अंडमान और पोर्ट ब्लेयर से स्वराज द्वीप तक, अंडमान निकोबार के एक बड़े हिस्से में ये सेवा आज से शुरू हो चुकी है। आज का दिन अंडमान-निकोबार के दर्जनों द्वीपों में बसे लाखों साथियों के लिए तो अहम है ही, पूरे देश के लिए भी महत्वपूर्ण है। नेता जी सुभाषचंद्र बोस को नमन करते हुए, करीब डेढ़ वर्ष पहले मुझे सबमरीन ऑप्टिकल फाइबर केबल कनेक्टिविटी परियोजना के शुभारंभ का अवसर मिला था।

रोड, एयर और वॉटर के जरिए फिजिकल कनेक्टिविटी को भी सशक्त किया जा रहा

पीएम मोदी ने इस दौरान यह भी कहा कि अंडमान और निकोबार के 12 आइलैंड्स में हाई इंपैक्ट प्रोजेक्टस का विस्तार किया जा रहा है। मोबाइल और इंटरनेट कनेक्टिविटी की एक बहुत बड़ी समस्या का समाधान तो आज हो चुका है। इसके अलावा रोड, एयर और वॉटर के जरिए फिजिकल कनेक्टिविटी को भी सशक्त किया जा रहा है। नॉर्थ और मिडिल अंडमान की रोड कनेक्टिविटी को मजबूत करने के लिए दो बड़े ब्रिज और एनएच-4 के चौड़ीकरण का तेजी से काम हो रहा है। आइलैंड के बीच और बाकी देश से वाटर कनेक्टिविटी की सुविधा को बढ़ाने के लिए कोची शिपयार्ड में जो 4 जहाज बनाए जा रहे हैं, उनकी डिलिवरी भी आने वाले कुछ महीनों में हो जाएगी।

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए विशेष दिन

परियोजना की उद्घाटन से पूर्व पीएम मोदी ने ट्वीट करके कहा कि आज, 10 अगस्त मेरे अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के भाइयों और बहनों के लिए विशेष दिन है। उन्होंने रविवार को भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा की उपस्थिति में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत की। उन्होंने कहा कि हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी से अंडमान और निकोबार के लोगों को देश के अन्य हिस्सों से जुड़ने में मदद मिलेगी। इससे हर कोई महामारी के बीच सभी प्रकार की ऑनलाइन सेवाओं का लाभ उठा सकेगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy