Cover

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित

आगर मालवा। जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक मंगलवार को सांसद द्वय श्री महेन्द्र सिंह सोलंकी एवं श्री रोड़मल नागर की उपस्थिति में सम्पन्न हुई। बैठक में जिले में सड़क दुर्घटनाओं के कारणों का पता कर इसमें कमी लाने हेतु प्रभावी एवं समन्वित प्रयास करने के बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा की।
बैठक के प्रारंभ में जिला परिवहन अधिकारी श्री अम्बिका प्रसाद श्रीवास्तव द्वारा पूर्व बैठक के पालन प्रतिवेदन की विस्तृत जानकारी दी गई। उन्होंनें विगत वर्षों की सड़क दुर्घटनाओं की तुलानात्मक जानकारी देते हुए बताया कि जनवरी से जून- 2020 में जिले में 129 सड़क दुर्घटना हुई है, जिसमें 37 व्यक्ति की मृत्यु तथा 187 व्यक्ति घायल हुए है। इस अवधि में गत वर्ष-2019 में 170 सड़क दुर्घटना हुई थी। जिसमें 65 की मृत्यु एवं 296 व्यक्ति घायल हुए थे। जिला परिवहन अधिकारी ने बताया कि जिले में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने हेतु दुर्घटना संभावित क्षेत्रों का चिन्हांकन कर संकेतक बोर्ड लगवाए जा रहे है। जिन क्षैत्रों में 500 मीटर की दूरी में विगत तीन वर्षों में 5 गंभीर दुर्घटना अथवा 10 से अधिक व्यक्ति की मृत्यु हुई है, उन्हें ब्लैक स्पॉट चिन्हीत कर साईन बोर्ड, बार मार्किंग लगवाए जाने हेतु विभाग स्तर पर कार्यवाही प्रचलित है। अंधे मोड़ पर रेडियम एवं साईन बोर्ड लगाकर दुर्घटनाओं कमी लाने प्रयास किए जा रहे है।
सांसद श्री सोलंकी ने निर्देश दिए कि जिले में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने हेतु परिवहन विभाग सहित सभी संबंधित विभाग मिलकर सामूहिक प्रयास करें। नियमित जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कर यातायात नियमों के प्रति आमजन में जागरूकता लाए। यातायात नियमों को अनदेखा करने वाले के विरूद्ध चालानी कार्यवाही की जाए। जिले में दुर्घटना संभावित क्षेत्र चिन्हांकित कर, ऐसे क्षेत्रों में दुर्घटना रोकने हेतु गति निर्धारण कर संकेतक लगवाए जाए। ऐसे सार्वजनिक स्थान जहां आवागमन अधिक हो वह वाहनों के लिए गति सीमा संकेतक लगाए एवं स्पीड ब्रेकर बनवाए जाएं। उन्होंने निर्देश दिए कि जिले में ब्लैक स्पॉट के रूप चिन्हित क्षेत्रों में दुर्घटना के कारणों का अध्ययन कर, उसे दूर करने का प्रयास करें। जो सड़के घुमावदार होने से दुर्घटना का कारण बनती हैं, उन्हें दुर्घटना विहिन बनाने हेतु शासन स्तर पर प्रस्ताव भेजे जाएं। उन्होंने आमला में तिराहे पर संकेतक बोर्ड लगवाने के निर्देश दिए।
राजगढ़ सांसद श्री नागर ने कहा कि दुर्घटना को रोकने एवं यातायात व्यवस्था हेतु हर तीन माह में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित की जाए। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी बैठक में समिति द्वारा जिन मुद्दों पर निर्णय लिया जाए, उनका पालन करते हुए आगामी बैठक में प्रगति पत्रक प्रस्तुत करें। सांसद ने कहा कि नगरीय क्षेत्रों एवं सड़कों पर रहने वाले मवेशियों को गौशालाओं में भेजने की कार्यवाही प्राथमिकता से की जाए, ताकि मवेशियों की वजह से होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को रोका जा सके तथा मवेशी भी सुरक्षित रहें। उन्होंने कहा कि प्रचार-प्रसार के लिए लगने वाले होर्डिग्स, बैनर सड़क दुर्घटना संभावित स्थानों पर न लगे, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि वाहन चालकों के लाईसेंस बनावाएं जाए तथा दो-पहिया वाहन चालक हेलमेट पहनकर कर वाहन चलाए यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि नगरीय निकाय होर्डिंग्स, बैनर लगाने हेतु स्थान चिन्हित कर, संबंधित से शुल्क वसूले, ताकि उनकी आय में वृद्धि हो सकें। उन्होंने कहा कि चिन्हित स्थानों पर ऑटोमैटिक सिग्नल लगाने की कार्यवाही शीघ्र पूरी की जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि शहर के मुख्य चौराहों पर दिशा-सूचक बोर्ड लगवाए जाए।
कलेक्टर श्री अवधेश शर्मा ने निर्देश दिए कि सभी संबंधित अधिकारी जिला सड़क सुरक्षा समिति के निर्णय एवं निर्देशों का पालन सुनिश्चित कर, प्रविवेदन प्रस्तुत करें। कलेक्टर ने यातायात पार्क के लिए जगह चिन्हित करने तथा शहरी क्षेत्रों में बायापास बनाने हेतु संबंधित विभाग प्रस्ताव बनाकर भेजना सुनिश्चित करें। बैठक को पुलिस अधीक्षक श्री राकेश कुमार सगर ने भी यातायात संबंधी जानकारी दी।
बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विजय कुमार सिंह, यातायात थाना प्रभारी सोनू बडगुर्जर सहित जनप्रतिनिधिगण जिलाध्यक्ष श्री गोविंद सिंह बरखेड़ी, श्री प्रेमनारायण यादव, अजय जैन मारूबर्डिया सहित समिति के अन्य सदस्य उपस्थित रहें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy