Cover

हुगली में झंडा फहराने को लेकर बवाल, भाजपा नेता की मौत, TMC कार्यकर्ताओं पर हमले का आरोप

कोलकाता। स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराने को लेकर पश्चिम बंगाल के हुगली जिले (West Bengal’s Hooghly district) में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और विपक्षी भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हुई। इस झड़प में भाजपा जिला परिषद के एक सदस्य की मौत हो गई। यह घटना खानकुल में हरिशचक गांव (Harishchak village) में घटी। आरोप है कि तृणमूल कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर भाजपा नेता सुदाम प्रमाणिक (Sudam Pramanik) के सिर पर धारदार हथियार से वार किया जिससे उनकी मौत हो गई।

समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक, सुदाम हुगली जिले में भाजपा द्वारा संचालित जिला परिषद के सदस्य थे। भाजपा समर्थकों का आरोप है कि तृणमूल समर्थित बदमाशों ने सुदाम की निर्मम हत्‍या की। क्षेत्र के तृणमूल कांग्रेस नेतृत्व ने भाजपा कार्यकर्ताओं के आरोपों को खारिज कर दिया है। तृणमूल कांग्रेस का कहना है कि घटना भाजपा में आपसी लड़ाई का ही नतीजा है। टीएमसी ने ने इस घटना की निष्पक्ष जांच की भी मांग की है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि क्षेत्र के पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

हालांकि सुदाम प्रमाणिक पर किसने धारदार हथियार से हमला किया अभी तक उसका नाम सामने नहीं आया है। मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। दरअसल, दोनों पार्टियों ने एक गांव में एक ही जगह पर ध्वजारहण समारोह आयोजित किया था। सूत्रों का कहना है कि जब दोनों दलों के कार्यकर्ता मौके पर जमा हुए तो उनके बीच झड़प हो गई। जिला तृणमूल कांग्रेस के नेता प्रबीर घोषाल (Prabir Ghosal) ने कहा कि मैंने इस घटना के बारे में सुना। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। तृणमूल कांग्रेस इस झड़प में शामिल नहीं है। यह जिला भाजपा कार्यकर्ताओं के आपसी झगड़े का नतीजा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy