Cover

गुरूग्राम से मध्य प्रदेश आ रही 34 सवारियों से भरी बस आगरा में हाईजैक, हाई अलर्ट पर MP पुलिस

ग्वालियर: उत्तर प्रदेश के न्यू दक्षिणी बाइपास पर जा रही सवारियों से भरी बस को कुछ बदमाशों ने हाइजैक कर लिया है। घटना बुधवार सुबह 4 बजे की है। गाड़ी में सवार बदमाशों ने बस को ओवरटेक करने के बाद उसे रोका और बस में सवार हो गए। कुछ दूर जाकर उन्होंने बस के चालक और परिचालक को हाइवे पर उतार दिया और बस को लेकर खुद चले गए। बस में 34 यात्री सवार थे। अब तक पुलिस को बस और सवारियों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है।

मध्य प्रदेश जा रही थी बस
हाईजैक की गई बस गुरुग्राम से मध्य प्रदेश की ओर जा रही थी। तभी फाइनेंसकर्मी बनकर बदमाशों ने बस को रोका और उसमें खुद सवार हो गए। बदमाशों ने ड्राइवर और कंडक्टर पर कुबेरपुर में ही उतार दिया और खुद 34 सवारियों से भरी बस लेकर भाग गए। बस के ड्राइवर की सूचना पर आगरा पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। जिले के SSP मौके पर पहुंच गए हैं। हालांकि अब तक बस और यात्रियों के बारे में कोई सुराग पुलिस के पास नहीं है। आगरा एसएसपी बबलू कुमार के अनुसार बस क्रमांक यूपी 75 एम 3510 ग्वालियर की बताई गई है और यह प्रकरण आगरा के मलपुरा थाने में दर्ज कर लिया गया है।

चालक के अनुसार, गाड़ी सवार कुछ लोगों ने तड़के सुबह 4 बजे बस का पीछ करके रूकवाया। उन्होंने स्वयं को फायनेंस कंपनी का कर्मचारी बताया था। बस को रोकने के बाद उन्होंने इसे कब्जे में ले लिया और आगे बढ़े। रास्ते में एक ढाबे पर बस को रोका और सभी सवारियों के पैसे वापिस करवाये और खाना भी खिलाया। इसके बाद उन्होंने एत्मादपुर क्षेत्र में चालक को उतार दिया। चालक ने मलपुरा थाने आकर पुलिस को खबर की। घटना की जानकारी के बाद पुलिस में हड़कंप मचा हुआ है।

ग्वालियर पुलिस भी अलर्ट मोड़ पर
ग्वालियर एएसपी पंकज पांडे के अनुसार, बस के हाईजैक की जानकारी ग्वालियर पुलिस को मिलने पर अलर्ट मोड़ आ गई और इन्होंने ग्वालियर पुलिस ने आसपास के अलर्ट करते हुए पुलिस चैकिंग बढ़ा दी है। यूपी और मप्र की सीमा पर पीएचक्यू के निर्देश पर पुलिस अलर्ट मोड़ पर है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार साझेदारी का विवाद बताया जा रहा है। बस गुरूग्राम से पन्ना के अमानगंज के लिये जा रही थी। हमारी भी पुलिस अलर्ट है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy