Cover

दिल्ली मेट्रो की सेवाएं शुरू होने की संभावना, पढ़िये- DMRC का ये ताजा ट्वीट

नई दिल्ली। तकरीबन 5 महीने से बंद दिल्ली मेट्रो का संचालन कभी भी शुरू किया जा सकता है। इसकी संभावना बनने लगी है। ताजा गतिविधियां इस ओर इशारा करने लगी हैं। दरअसल, बृहस्पतिवार को दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) के मुखिया मंगू सिंह ने राजीव चौक मेट्रो स्टेशन के परिचालन प्रणाली के संचालन और रखरखाव की जांच के लिए स्टेशन का मुआयना किया। राजीव चौक दिल्ली के सबसे व्यस्त मेट्रो स्टेशन (जंक्शन) है। ऐसे में इस निरीक्षण का अहम माना जा रहा है और कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही मेट्रो ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा सकता है।  उधर, DMRC के अधिकारियों ने ट्वीट कर इस बाबत जानकारी देते हुए इसे ‘नियमित निरीक्षण’ करार दिया है।

वहीं, जानकारों की मानें तो मेट्रो ट्रेनों का परिचालन शुरू करने की कड़ी में यह निरीक्षण किया गया है। यह निरीक्षा ऐसे समय में किया गया है जब ऐसी उम्मीदें जताई जा रही हैं कि उचित सुरक्षा नियमों के साथ मेट्रो सेवा का परिचालन अगले कुछ दिनों में शुरू किया जा सकता है।

दिल्ली मेट्रो के अधिकारियों की मानें तो मेट्रो ट्रेनों और स्टेशनों पर कोरोना फैलने का डर अब नहीं रहेगा क्योंकि मेट्रो में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण से बचाव की हर तरह की व्यवस्था कर ली गई है। बता दें कि दिल्ली मेट्रो पहले ही कहा चुका है कि वह आदेश के 48 घंटे के भीतर दिल्ली-एनसीआर में मेट्रो ट्रेनों का संचालन शुरू कर सकता है।

बृहस्पतिवार को किए गए निरीक्षण के बाबत डीएमआरसी ने एक ट्वीट किया है- ‘डीएमआरसी के प्रमुख मंगू सिंह ने राजीव चौक मेट्रो स्टेशन का मुआयना किया। विभिन्न परिचालन प्रणाली और रखरखाव गतिविधियों के प्रभावी कामकाज की जांच करने के लिये यह नियमित निरीक्षण का हिस्सा था।’

दिल्ली मेट्रो के कार्यकारी निदेशक (जनसंपर्क) अनुज दयाल ने पिछले दिनों कहा था कि मेट्रो से कोरोना फैलने का डर अब नहीं रहेगा क्योंकि मेट्रो में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव की हर तरह की व्यवस्था कर ली गई है।

क्या शुरू होंगी मेट्रो सेवाएं

पिछले 5 महीने से बंद दिल्ली मेट्रो एक बार फिर यात्रियों को सेवाएं देने के लिए तैयार है, लेकिन DMRC को केंद्र सरकार की मंजूरी मिलने का इंतजार है। कोरोना संक्रमण प्रसार को रोकने के लिए 22 मार्च से दिल्ली मेट्रो की सेवाएं बंद हैं। इससे DMRC को रोजाना 10 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy