Cover

कोविड-19 के फैलाव को रोकने हेतु शासन जिला कलेक्टर ने -जारी किये दिशा-निर्देशों 

आगर मालवा :  कलेक्टर  संजय कुमार  दैनिक जीवन के लिए अति-आवश्यक वस्तुओं की मांग एवं आपूर्ति में संतुलन बनाए रखने के लिए सप्लाईकर्ता एवं विक्रेता सभी व्यापारीगण जिनको दुकान खोलने की अनुमति दी गई है, उन्हेें व्यापार के साथ-साथ कोविड-19 के फैलाव को रोकने हेतु शासन द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देश महत्वपूर्ण सुझाव एवं सावधानियां का अनिवार्यतः पालन करने हेतु पत्र जारी किया गया है।
जारी पत्र में कहा गया कि व्यापारीगण व्यापार के साथ-साथ अपनी सामाजिक जिम्मेदारी का पालन करें। नगद लेनदेन के स्थान पर डिजिटल/ऑनलाइन पेमेंट को प्राथमिकता दें। नगदी लेनदेन की स्थिति में अपने हाथ, चेहरे, नाक, आंख एवं मुंह पर तब तक न छुए जब तक हैंडवॉश/सैनिटाइजर का इस्तेमाल एवं साबुन से ना धो लिए हो, दुकान में कार्यरत कर्मचारी ग्राहक एवं मालिक सबके लिए मास्क/ फेस कवर (रुमाल गमछा दुपट्टा) पहनना अनिवार्य है। समस्त संचालक जनहित में सोशल डिस्टेंस प्रोटोकॉल के तहत दुकान के सामने कम से कम एक 1 मीटर की दूरी, पीले गोले से मार्क करने, ग्राहक/ कर्मचारी के लिए मास्क, हाथ धोने के लिए साबुन या हैंडवॉश/सैनिटाइजर की व्यवस्था स्वयं करें, ताकि कारोबार के साथ-साथ स्वयं एवं अपने ग्राहक/कर्मचारी के स्वास्थ्य का भी ख्याल रखा जा सके। इसमें लापरवाही करते पाए जाने पर दुकान बंद करवाने की कार्यवाही की जाएगी। दुकान पर भीड़ न होने दें। भीड़ बढ़ने की स्थिति में टोकन देकर दूर बैठने के लिए ग्राहक से निवेदन करें। व्हाट्सएप के माध्यम से लिस्ट ले, लिस्ट बनाकर दूर बैठने का निवेदन करें। सामान निकल जाने के बाद ग्राहक को बुला ले एवं लेनदेन पूर्ण होने के बाद ग्राहक को तत्काल घर जाने की सलाह दें। किसी भी स्थिति में दुकान के अंदर ग्राहकों को अनावश्यक बैठने से रोके। दुकान के काउंटर को ग्राहकों को न छूने दे। इस हेतु रस्सी लगाकर लक्ष्मणरेखा बनाने, सामान कार्टून कैरेट में निकालकर ग्राहकों के बेग या थैले में गिनती करा दे, ग्राहकों के बेग थैले आदि को छूने से बचे।
नियमित ग्राहकों से दुकानदार आवश्यक सामग्री की लिस्ट व्हाट्सएप के माध्यम से प्राप्त कर होम डिलीवरी दे सकते हैं। यदि परिस्थितिवश दुकान जाकर ही सामान खरीदना आवश्यक हो तो,एक घर/परिवार से एक सदस्य एक ही बार में सारे सामान खरीद ले, बार-बार बाजार जाने से बचे। साथ ही किसी भी सामग्री का अनावश्यक संग्रह ना करें। देश एवं प्रदेश में किसी भी सामग्री की कोई कमी नहीं है। दुकानदार गुणवत्तापूर्ण एवं निर्धारित दर पर ही सामग्री का विक्रय करें। मुनाफाखोरी, जमाखोरी एवं कालाबाजारी को बढ़ावा ना दें, ऐस करने वाले दुकान के विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत दंडात्मक कार्यवाही करते हुए दुकान बंद की जाएगी।
दुकान खोलने के समय स्थान व्यवस्था जैसे अन्य कार्य के लिए आवश्यकतानुसार जिला प्रशासन, पुलिस, स्थानीय नगरीय निकाय संस्थान के निर्देशों का पालन करें एवं इनका सहयोग ले सकते हैं। फेरी वाले फल/सब्जी एवं दूध विक्रेता, खाने के टिफिन होम डिलीवरीकर्ता, आवश्यक खाद्य वस्तुओं की सप्लाई करने वाले डिलीवरी ब्वॉय, दुकानदार स्वयं अपने कर्मचारी एवं सैनिटाइजेशन का विशेष रूप से ध्यान रखें। ऐसे कारोबारी बेकिंग सोडा, मीठा सोडा, नींबू, गरम या गुनगुने पानी का प्रयोग बर्तन उपकरण एवं परिसर की सफाई, सेनेटॉईज/स्टरलाइजेशन के लिए कर सकते हैं। दुकानदार अपने ग्राहकों एवं आम जनता से स्वयं अनुरोध करें कि बाजार से खरीदे गए फल सब्जी दूध के पैकेट आदी को धोकर उपयोग में लाएं।
होटल, रेस्टोरेंट, भोजनालय एवं ढाबा में बैठकर खाने की बजाय ग्राहक अपने घर में जाकर खाने को प्राथमिकता दें या संचालक प्रत्येक बार टेबल कुर्सी एवं ग्राहक के उपयोग की वस्तु को अनिवार्यता सेनीटाइज करें। सभी दुकानदारों को दिनांक वार अपने परिसर में आने वाले ग्राहकों की जानकारी यथा नाम पता एवं मोबाइल नंबर रजिस्टर में संधारित करना अनिवार्य होगा ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy