Cover

प्रतिभाशाली सुदीक्षा भाटी के माता-पिता से मिले CM योगी आदित्यनाथ, नाम पर प्रेरणा स्थल और लाइब्रेरी

लखनऊ। गौतमबुद्धनगर के गांव डेरी स्कनर की बेहद ही प्रतिभाशली छात्रा स्वर्गीया सुदीक्षा भाटी के परिवारीजन से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने सरकारी आवास पर भेंट की। सुदीक्षा भाटी स्कॉलर छात्रा थी और करीब चार करोड़ रुपया की स्कॉलरशिप मिलने पर वह अमेरिका के बॉबसन कालेेज में पढ़ रही थी।

बुलंदशहर में सड़क हादसे में मारी गई छात्रा सुदीक्षा भाटी के माता-पिता आज लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिले। उनके साथ दादरी के विधायक तेजपाल नागर और राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर भी थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परिवार के लोगों दे बातचीत में सुदीक्षा भाटी के साथ ही परिवार के कामकाज के बारे में जानकारी ली। इसके बाद सुदीक्षा के माता-पिता को हर संभव मदद का भरोसा दिया और उन्हेंं सांत्वना देते हुए सुदीक्षा के निधन को देश और समाज की अपूरणीय क्षति बताया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वह देश की बेटी थी समाज की बेटी थी। बिटिया के जाने का दुख सबको है पर हिम्मत से काम लें। हम सब साथ हैं। उन्होंने निर्देश दिया कि सुदीक्षा के नाम पर प्रेरणा स्थल और लाइब्रेरी बनाई जाएगी ताकि क्षेत्र के बच्चों को आगे बढ़ने और पढ़ने की प्रेरणा मिल सके। उन्होंने अधिकारियों को परिवार की आर्थिक मदद के भी निर्देश दिए। सुदीक्षा के परिवार को 15 लाख रुपए सरकार की ओर से और पांच लाख सांसद सुरेंद्र नागर की ओर से दिए जाएंगे।

माता-पिता ने सीएम योगी आदित्यनाथ को बताया कि बेटी सुदीक्षा बेहद मेधावी थी और अभावों के बीच भी पढऩे के प्रति लगनशील थी। एक ही कमरे में पूरा परिवार रहता था फिर भी पढ़ाई करती रहती थी। सुदीक्षा की मां और पिता ने मुलाकात के बाद कहा कि मुख्यमंत्री ने उनकी बातों को सुना और सुदीक्षा के नाम पर जो कुछ करने के लिए सहमति जताई यह हमारे लिए संतोष का विषय है।

बेहद प्रतिभाशाली छात्रा सुदीक्षा भाटी ने अपनी योग्यता के दम पर पौने चार करोड़ की स्कॉलरशिप हासिल की थी। आज सुदीक्षा भाटी के परिवार के लोगों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भेंट की। सुदीक्षा के माता-पिता ने आज मुख्यमंत्री से मिलकर अपना दर्द साझा किया। इस मौके पर सांसद सुरेंद्र नागर भी थे, जिनके प्रयास से ही सुदीक्षा भाटी परिवार के लोग मुख्यमंत्री से मिल पाए हैं। सुदीक्षा के पिता ने कहा कि उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता सुदीक्षा के नाम से शिक्षण संस्थान बनाने की है। वह अपनी बेटी की मुहिम को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

अमेरिका के बॉब्सन कॉलेज में पढ़ने वाली सुदीक्षा की दस अगस्त को बुलंदशहर के औरंगाबाद में बाइक से गिरकर मौत हो गई थी। इस मामले ने तूल पकड़ा और बताया गया कि वहां मनचलों की हरकत से सुदीक्षा भाटी की मौत हुई है। इस घटना ने तूल पकड़ा, लेकिन बुलंदशहर पुलिस प्रशासन ने छेड़छाड़ की घटना से इनकार किया। इसके बाद देश-विदेश में सुदीक्षा के परिजनों को न्याय दिलाने की मांग उठ रही थी। दादरी विधायक तेजपाल नागर ने भी मुख्यमंत्री को 25 लाख रुपये की आर्थिक  सहायता दिलाने के लिए पत्र लिखा था।

रविवार को लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ से भेंट करने से पहले शनिवार को बुलंदशहर में एडीएम प्रशासन रवीन्द्र कुमार ने प्रशासन की ओर से सुदीक्षा के परिवार के लोगों को आॢथक सहायता के रूप में डेढ़ लाख रुपये का चेक सौंपा है। एडीएम रवींद्र कुमार ने बताया कि डीएम के निर्देश पर सुदीक्षा के परिजनों की आर्थिक मदद की गई है। बुलंदशहर के जिलाधिकारी और एसएसपी ने भी सुदीक्षा के परिजनों की आर्थिक मदद का आश्वासन दिया था। परिवार के लोगों को लखनऊ जाने के लिए एक कार की व्यवस्था भी कराई थी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy