Cover

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में आइटीबीपी जवानों ने की एएसआइ की पिटाई

कोंडागांव। नारायणपुर जिले में आइटीबीपी के जवानों ने गश्त के दौरान एक एएसआइ की बुरी तरह पिटाई कर दी। घायल एएसआइ को कोंडागांव जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कोंडागांव जिला अस्पताल में भर्ती आइटीबीपी 29वें कैंप के एएसआइ गोपाल सिंह के मुताबिक, 10 सितंबर को गश्त के लिए 26 जवान निकले थे। सुबह करीब सात बजे दल के राजकुमार, अमित कुमार, जीडी गणेश गिरी, ओमप्रकाश ने उसे झाड़ियों के पास ले जाकर प्लास्टिक की रस्सियों से बांध दिया और बुरी तरह पीटा। राइफल, मैगजीन और वायरलैस छीन लिया। राजकुमार के मोबाइल पर कोई कॉल आने पर उसकी रस्सियों को खोलकर छोड़ दिया और खाली राइफल लौटा दी।

गोपाल ने बताया कि 29 अगस्त को कैंप में मारपीट की घटना हुई थी। इसमें बीच बचाव करने के कारण ही उसकी पिटाई की गई। ड्यूटी के बाद 11 सितंबर की शाम हेड ऑफिस कोंडागांव पहुंचकर अगले दिन दंडपाल को उसने घटना की जानकारी दी। सीओ ने उन्हें कैंप में रहने कहा। दोपहर 12 बजे कैंप से छुट्टी होने के बाद वह जिला अस्पताल में भर्ती हो गया। घायल एएसआइ उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के नहला सीताराम गांव का निवासी है। आइटीबीपी 29वीं वाहिनी के सीओ समर बहादुर सिंह ने कहा कि मुझे इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है। शिकायत प्राप्त होने पर विभागीय कार्रवाई होगी।

नक्सलियों ने टाइगर रिजर्व के रेंज अफसर की हत्या की

वहीं, दूसरी ओर छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में नक्सलियों ने शुक्रवार शाम करीब चार बजे इंद्रावती टाइगर रिजर्व के रेंज अफसर रतिराम पटेल की हत्या कर दी। रेंजर पटेल मजदूरी का भुगतान करने बीजापुर जिले कोंडरोजी गांव गए थे रेंजर पटेल मजदूरी का भुगतान करने के लिए दो फारेस्ट गार्ड के साथ जांगला थाना इलाके के कोंडरोजी गांव गए थे। वहां पहले से मौजूद नक्सलियों ने वनरक्षकों को भगा दिया और रेंजर की हत्या कर दी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy