Cover

IPL 2020 :गौतम गंभीर ने बताया MS Dhoni और Virat Kohli की कप्तान में सबसे बड़ा अंतर

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर ने इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन की शुरुआत से पहले महेंद्र सिंह धौनी और विराट कोहली की कप्तानी के बीच का अंतर बताया है। कोहली को शुरुआती दिनों से खेलते देखने वाले गंभीर ने उनको इस आईपीएल में टीम में ज्यादा बदलाव नहीं करने की सलाह दी है।

स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट कनेक्टेड पर गंभीर ने कहा, “जो विराट कोहली ने कहा, जब आप अपनी टीम से एक कप्तान के तौर पर खुश होते हैं तो आपने पहले से ही योजना बना ली होती है कि कौन से प्लेइंग इलेवन के साथ आप खेलने वाले हैं। अगर आप संतुष्ट हैं तो शांत भाव भी साथ ही आता है। क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि आपको पूरे टूर्नामेंट के दौरान नहीं पता चल पाता कि कौन से प्लेइंग इलेवन के साथ आप खेलने वाले हैं। इसी वजह से आप काफी सारे बदलाव करते रहते हैं।”

“मुझे अब भी लगता है कि आरसीबी बल्लेबाजी को ज्यादा ताकतवर बनाने पर ध्यान देती है। एक चीज जो आपको थोड़ी बदली हुई नजर आएगी वो यह कि गेंदबाज खुश होंगे। उनको सात मुकाबले चिन्नास्वामी स्टेडियम में नहीं खेलने पड़ेंगे।”

गंभीर ने एमएस धौनी और विराट कोहली के कप्तान के बीच का अंतर बताया। गंभीर चाहते हैं कोहली 6 से 7 मुकााबलों उसी प्लेइंग इलेवन के साथ खेलें जिसको शुरुआत में उतारने वाले है जिससे कि टीम में निरंतरता आए।

“विराट कोहली और एमएस धौनी की कप्तानी के बीच जो सबसे बड़ा अंतर है कि एमएस धौनी 6 से 7 मैचों तक उन्हीं खिलाड़ियों के साथ खेलते हैं। वहीं अगर आरसीबी के ट्रेंड को देखें तो वो काफी जल्दी बदलाव करते हैं क्योंकि उनको शक रहता है कि प्लेइंग इलेवन में संतुलन नहीं है।”

“इसी वजह से मैं देखना चाहता हूं कि आरसीबी पहले 6 से 7 मुकाबलों में उसी प्लेइंग इलेवन के साथ खेले भले ही शुरुआत अच्छी नहीं कर पाए। क्योंकि ऐसा करने के बाद ही टीम के खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे ना कि तब जब आप बस एक या दो मैच देंगे। तो विराट कोहली अगर मानसिक तौर पर शांत हैं कि यह सबसे संतुलित टीम है तो जरूरी है कि वह कैसा प्रदर्शन करती है और कितने खिलाड़ियों के साथ बने रहते हैं।”

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy