Cover

CM योगी आदित्यनाथ के कदम को महाराष्‍ट्र के पूर्व CM देवेंद्र फडणवीस व कंगना रनोट ने सराहा

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आगरा के ताजमहल में निर्माणाधीन मुगल म्यूजियम का नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी म्यूजियम रखने पर महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस के साथ फिल्म अभिनेत्री कंगना रनोट ने जमकर सराहा है। इस बाबत फडणवीस तथा कंगना के सीएम योगी आदित्यनाथ के एक ट्वीट पर रिट्वीट भी किया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने समीक्षा बैठक में सोमवार को बड़ा निर्णय लिया है। उन्होंने ताजनगरी आगरा के साथ ही फिरोजाबाद, मथुरा तथा मैनपुरी के विकास कार्य के साथ कानून-व्यवस्थातथा कोविड-19 की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने निर्णय लिया कि प्रदेश में अखिलेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल मुगल म्यूजियम अब छत्रपति शिवाजी के नाम से जाना जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार शाम मंडलीय समीक्षा में इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा हमारे नायक मुगल नहीं हो सकते, शिवाजी महाराज हमारे नायक हैैं। उन्होंने प्रदेश सरकार को राष्ट्रवादी विचारों को पोषित करने वाली सरकार बताते हुए कहा कि गुलामी की अब मानसिकता के प्रतीक चिह्नों को छोड़कर हमें राष्ट्र के प्रति गौरवबोध कराने वाले विषयों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में मुगलों की विशेष उपलब्धियों को प्रदर्शीत करने वाले मुगल म्यूजियम (मुगल संग्रहालय) का नाम बदल कर छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर रखने का जैसे ही आदेश दिया, उसी पल से राजनतीकि दलों की प्रतिक्रिया आने का सिलसिला शुरू हो गया।

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करते हुए लिखा कि आगरा में निर्माणाधीन म्यूजियम को छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम से जाना जाएगा। आपके नए उत्तर प्रदेश में गुलामी की मानसिकता के प्रतीक चिन्हों का कोई स्थान नहीं। हम सबके नायक शिवाजी महाराज हैं। जय हिन्द, जय भारत। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने योगी आदित्यनाथ के इस कदम की सराहना की है। फडणवीस ने सीएम योगी के एक ट्वीट को रिट्विट किया जिसमें लिखा था कि नये उत्तर प्रदेश में गुलामी की मानसिकता के प्रतीक चिन्हों का कोई स्थान नहीं। फडणवीस ने ट्वीट करते हुए लिखा कि जय जिजाऊ, जय शिवराय ।। छत्रपती शिवाजी महाराज की जय।

फिल्म अभिनेत्री कंगना का भी सीएम योगी आदित्यनाथ के फैसले को समर्थन

सीएम योगी आदित्यनाथ के आगरा में मुगल संग्रहालय का नाम छत्रपति शिवाजी संग्रहालय रखने के फैसले का कंगना रनोट ने समर्थन किया है। कंगना ने अपने पूर्वजों का संबंध शिवाजी महाराज से बताया है। कंगना रनोट की महाराष्ट्र सरकार की तनातनी बरकरार है। इस बीच उन्होंने अपने पूर्वजों का संबंध छत्रपति शिवाजी महाराज से बताया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एलान किया कि आगरा के मुगल संग्रहालय का नाम छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर होगा।

कंगना ने मुख्यमंत्री के इस ट्वीट का समर्थन करते हुए अपनी बात कही है। योगी आदित्यनाथ के ट्वीट पर रिएक्शन देते हुए कंगना ने दावा किया कि उनके पूर्वजों का संबंध शिवाजी महाराज से है। कंगना ने लिखा कि जस तरह से महान नेता बाला साहेब ठाकरे के पूर्वज बिहार से आते हैं। उसी तरह कई थ्योरीज में महान शिवाजी महाराज का संबंध जयपुर के राजघराना से भी बताया गया है। मैं हिमाचल में पैदा हुई हूं लेकिन लेकिन मेरे पूर्वजों रनोट का संबंध उदयपुर से है। हमारी कुल देवी मां अंबिका हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में मुगलों की विशेष उपलब्धियों को प्रदर्शीत करने वाले मुगल म्यूजियम का नाम बदल कर छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर रखने का आदेश दिया है। राज्य सरकार के प्रवक्ता बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने सरकारी आवास पर वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आगरा मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान यह आदेश दिए हैं।

ताजमहल के पूर्वी गेट के नजदीक बन रहे मुगल संग्रहालय में मुगलों के दौर में हासिल की गई राजनीतिक और सांस्कृतिक उपलब्धियों को कलाकृतियों के माध्यम से प्रदर्शीत किया जाएगा। लगभग 52 वर्ग मीटर क्षेत्र में बन रहे इस संग्रहालय के निर्माण पर करीब 20 करोड़ रुपये खर्च होंगे। वर्ष 2017 में बनना शुरू हुए इस संग्रहालय का निर्माण 2019 तक पूरा हो जाना था। यहां पर काम अभी भी जारी है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy