Cover

बडगाम में मुठभेड़ के दौरान एक आतंकी ढेर, तलाशी अभियान जारी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के बडगाम के चरार-ए-शरीफ इलाके में सोमवार शाम को शुरू हुई मुठभेड़ अब भी जारी है। सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच चल रही इस मुठभेड़ में मंगलवार सुबह एक आतंकी को मार गिराया गया है। हालांकि फिलहाल उसकी पहचान नहीं हो पाई है।

बताया जा रहा है कि कल शाम को अंधेरे के कारण ऑपरेशन को रोक दिया गया था। सुबह होते ही फिर से इसे शुरू किया गया। शुरुआती मुठभेड़ में एक जवान घायल हो गया था, जिन्हें बाद में 92 बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जम्मू और कश्मीर के बडगाम के चरार-ए-शरीफ इलाके में पिछले 12 घंटों से सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ जारी है। सोमवार शाम को इलाके में कुछ आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिलने पर सुरक्षाबलों ने चरार-ए-शरीफ इलाके को घेर लिया था और आतंकियों की तलाश कर रहे थे। इसी दौरान मुठभेड़ में एक को ढेर किया गया है।

जानकारी के अनुसार जम्मू-कश्मीर में बडगाम के चेरार-ए-शरीफ क्षेत्र में सोमवार को सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस दौरान एक सैन्यकर्मी घायल हो गया। उसे नजदीकी अस्पताल में दाखिल कराया गया है। सुरक्षाबल के जवान आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। इधर, श्रीनगर शहर के बाहरी क्षेत्र नौगाम में सोमवार को आतंकियों ने सीआरपीएफ के गश्तीदल पर हमला कर दिया। जवानों ने जवाबी कार्रवाई की तो आतंकी जान बचाकर भाग गए। इस बीच, उत्तरी कश्मीर में बारामुला जिले के सोपोर में अल-बदर के दो आतंकियों को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया है। श्रीनगर में सुबह सीआरपीएफ की 110वीं वाहिनी के जवानों का दल नौगाम बाईपास पर नियमित गश्त पर निकला था।

इसी दौरान पास के खेतों में छिपे आतंकियों ने हमला कर दिया। जवानों ने मोर्चा संभाला और जवाबी कार्रवाई की। करीब पांच मिनट तक दोनों तरफ से ताबड़तोड़ गोलियां चलीं, जिसके बाद आतंकी जान बचाकर भाग गए। जवानों ने आतंकियों का पीछा किया, लेकिन वह हाथ नहीं लगे। इसके बाद सीआरपीएफ, पुलिस और सेना के एक संयुक्त कार्यदल ने घटना स्थल के आसपास के इलाकों में तलाशी अभियान चलाया। आतंकी हमले के कारण बाईपास पर करीब दो घंटे वाहनों की आवाजाही बंद रही।

इस बीच, सोपोर के बोम्मई में अल-बदर के दो स्थानीय आतंकियों जाहिद फारुक शेख और शरीफुद्दीन अहंगर को गिरफ्तार किया है। इनसे दो पाउच, एक पिस्तौल, कुछ कारतूस और दो ग्रेनेड भी मिले हैं। ये दोनों आतंकी छह जून को स्थानीय निवासी दानिश मंजूर नजार उर्फ इश्फाक अहमद की हत्या में शामिल थे। इन दोनों ने अल-बदर के जिला कमांडर गनी ख्वाजा के साथ मिलकर दानिश की हत्या की थी। गनी ख्वाजा फरार है। उसे पकड़ने के लिए पुलिस उसके ठिकानों पर लगातार दबिश दे रही है।

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय सीमा (आइबी) पर पाकिस्तान की खुराफात जारी है। ड्रोन और सुरंग की साजिशें नाकाम रहने के बाद पाकिस्तान ने इस बार प्लास्टिक की पाइप में हेरोइन व हथियार डालकर चार आतंकियों को जम्मू जिले के अरनिया सेक्टर से घुसपैठ करवाने की कोशिश करवाई, लेकिन नाकाम रहा। बीएसएफ की त्वरित कार्रवाई के बाद आतंकी पाइप भारतीय क्षेत्र में फेंककर जान बचाते हुए उल्टे पांव वापस भाग गए। इसके बाद बीएसएफ ने पाइप को बरामद किया। छह इंच मोटी और बीस फीट लंबी प्लास्टिक की पाइप में 62 किलो हेरोइन, दो चाइनीज पिस्तौल, चार मैगजीन और सौ कारतूस बरामद हुए थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy