Cover

बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी हुए क्वारंटाइन, पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती से हुई थी मुलाकात

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। आम से लेकर खास तक हर कोई इसकी चपेट में है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती में भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। भाजपा नेता ने देर रात ट्वीट कर खुद इसकी जानकारी दी। उन्होंने अपने संपर्क में आने वालों से सावधान रहने और कोरोना टेस्ट कराने की अपील की है। उमा भारती पिछले दिनों केदारनाथ और बदरीनाथ की यात्रा पर थी। केदारनाथ यात्रा के दौरान उनके साथ मौजूद उत्तराखंड के उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जिसके बाद उमा भारती का एंटीजन टेस्ट कराया था। उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। इस दौरान उमा भारती ने केदारनाथ, बदरीनाथ समेत कई मंदिरों के दर्शन भी किए।

देर रात भाजपा नेता ने ट्वीट कर खुद के संक्रमित होने की सूचना दी थी। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि तीन दिन से हल्का बुखार आने के कारण यात्रा के अंतिम दिन प्रशासन से आग्रह कर कोरोना टेस्ट के लिए टीम को बुलाया था। यात्रा के दौरान कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन किया, जिसके बाद भी मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने बताया कि वे अभी हरिद्वार और ऋषिकेश के पास वंदेमातरम कुंज में क्वारंटाइन हैं। उमा भारती ने बताया कि वे चार दिन बाद दोबारा टेस्ट कराएंगी

बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी हुए क्वारंटाइन 

बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल ने खुद को क्वारंटाइन कर लिया है। दरअसल, उनकी पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती से धाम के मंदिर में मुलाकात हुई थी। शनिवार को उमा भारती की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उन्होंने स्वयं को क्वारंटाइन कर लिया है।

सितंबर का महीना गुजर रहा भारी 

कोरोना संक्रमण के लिहाज से सितंबर भारी गुजर रहा है। शुरुआती साढ़े पांच माह में उत्तराखंड में कोरोना के 19827 मामले आए थे, जबकि पिछले 26 दिन में 26454 लोग संक्रमित हो चुके हैं। यानी 57 फीसद मामले सितंबर माह के हैं। सुकून सिर्फ इस बात का है इस माह हर दिन औसतन 800 मरीज रिकवर भी हुए हैं। जिस कारण रिकवरी दर अब लगातार सुधर रही है। शनिवार को भी प्रदेश में कोरोना के 949 नए मामले आए, तो 1007 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज भी किए गए। बता दें कि अब तक प्रदेश में 46281 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें 34649 लोग ठीक हो गए हैं। वर्तमान में 10856 एक्टिव केस हैं, जबकि 210  मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सरकारी और निजी लैब से 12264 सैंपलों की जांच रिपोर्ट मिली है। इनमें 11315 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। देहरादून में फिर सर्वाधिक 295 लोग संक्रमित मिले हैं।

74.87 फीसद पहुंची रिकवरी दर

प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अब रिकवरी ने भी रफ्तार पकड़ ली है। रिकवरी दर अब 74.87 फीसद पहुंच गई है।

11 मरीजों की मौत

कोरोना संक्रमितों की मौत का आंकड़ा दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है। शनिवार को भी 11 संक्रमितों की मौत हुई है। मसूरी रोड स्थित मैक्स अस्पताल में पांच, एम्स ऋषिकेश में तीन, दून मेडिकल कालेज चिकित्सालय में दो व हल्द्वानी स्थित डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में एक मरीज की मौत हुई है। अब तक प्रदेश में कुल 566 मरीजों की मौत हो चुकी है।

जज, यूपीसीएल के निदेशक कोरोना संक्रमित

दून में कोरोना का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। सितंबर माह में यहां हर दिन औसतन सवा तीन सौ नए मामले आए हैं। हालात बेकाबू होते देख सिस्टम भी बैचेन है। लेकिन संक्रमण की रोकथाम को उपाय नहीं सूझ रहे हैं। शनिवार को भी जनपद में 295 और लोग संक्रमित मिले हैं। विशेष न्यायाधीश एनडीपीएस की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं, यूपीसीएल के डायरेक्टर ऑपरेशंस भी संक्रमित मिले हैं। इन दोनों के संपर्क में आए लोगों को चिह्नित किया जा रहा है। ताकि उन्हें भी क्वारंटाइन कर जांच कराई जा रही है।

बता दें कि जिले में अब तक 12339 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें 8464 ठीक हो गए हैं। वहीं, 3550 एक्टिव मरीज हैं। कोरोना केइलाज के लिए चिन्हित सरकारी व निजी अस्पतालों में हाउसफुल जैसी स्थिति है। काफी तादाद में मरीज होम आइसोलेशन में भी हैं। हालांकि अधिकारी यह दावा कर रहे हैं कि मरीजों को समुचित उपचार देने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं

नया आइसीयू वॉर्ड जल्द शुरू करें अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने शनिवार को दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल का दौरा किया। उन्होंने पुराने प्रशासनिक भवन में बन रहे 18 बेड के आइसीयू को अगले एक सप्ताह में शुरू करने के निर्देश दिए। कार्यदायी संस्था पेयजल निगम के अफसरों को जल्द से जल्द काम पूरा करने को कहा है। वहीं, रिपोर्ट में देरी पर भी उन्होंने इसमें सुधार के लिए निर्देशित किया। साथ ही रिपोर्टिंग की ऑनलाइन व्यवस्था बनाने को कहा। इस दौरान प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना,डिप्टी एमएस डॉ. एनएस खत्री, वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी महेंद्र भंडारी आदि मौजूद रहे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy