Cover

Unlock 5 Guidelines: जानें- ट्रेन, सिनेमा हॉल, स्कूल के साथ क्या-क्या खुलने के आसार

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस का संकट लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बीच बुधवार को अनलॉक 4 की सीमा समाप्त हो रही है। ऐसे में उम्मीद लगाई जा रही है कि मंगलवार को गृह मंत्रालय की ओर से अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स का ऐलान किया जा सकता है।  कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 24 मार्च से शुरू हुआ देशव्यापी लॉकडाउन चरणों में लागू होने के बाद जुलाई महीने से चरण दर चरण हटने लगा। अनलॉक के चार चरणों में अब तक मॉल, सैलून, रेस्तरां, जिम जैसी सार्वजनिक जगहें खोली जा चुकी हैं। अनलॉक चार के तहत जारी पिछली गाइडलाइंस में 9वीं से 12वीं कक्षा के बच्चों को सशर्त स्कूल जाने, जिम, योगा सेंटर जैसे स्थानों को खोलने की छूट मिल गई थी।

अनलॉक 5 गाइडलाइंस से बड़ी उम्मीद

कुल मिलाकर अब तक बेहद जरूरी सेवाओं की ही अनुमति दी गई है जबकि मनोरंजन स्थलों- मसलन सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क आदि नहीं खोले गए हैं। सार्वजनिक समारोहों के आयोजन की इजाजत भी नहीं दी गई है। वहीं, स्कूल-कॉलेजों और ट्रेनों को भी पूरी तरह नहीं खोला गया है। ऐसे में अनलॉक 5 के तहत आज आनेवाली गाइडलाइंस में इनकी इजाजत की उम्मीद की जा रही है। हालांकि, प्राथमिक स्कूलों को खोलने की संभावना नहीं के बराबर है।

क्या सार्वजनिक सभाओं के लिए मिलेगी अनुमति?

दरअसल, त्योहारों और बिहार में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सार्वजनिक आयोजनों और सभाओं की अनुमति दिए जाने की उम्मीद काफी ज्यादा दिख रही है। पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने तो दुर्गा पूजा के त्योहार के लिए पंडाल लगाने की इजाजत दे भी दी। हालांकि, ममता सरकार ने पंडालों को चारों तरफ से खुले रखने, श्रद्धालुओं, आयोजकों समेत अन्य लोगों को मास्क लगाने और पंडाल में जगह-जगह पर सेनिटाइजर रखने जैसी शर्तें भी लगाई हैं। लेकिन, सबसे कड़ी शर्त है कि किसी पंडाल में एक वक्त में 100 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हों।

ट्रेनों की भारी परेशानी

लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी ट्रेनों की सीमित संख्या के कारण हो रही है। लोगों को आवाजाही में भारी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है और उनका यात्रा खर्च भी बढ़ गया है। ऐसे में अनलॉक 5 की गाइडलाइंस से सबसे ज्यादा उम्मीद सभी ट्रेनों को खोले जाने की है। अब तक रेल मंत्रालय गिनती की स्पेशल ट्रेनें चला रही हैं जिसमें लोगों को थर्ड क्लास से यात्रा के लिए भी रिजर्वेशन करवाना पड़ रहा है। इससे भी बड़ी समस्या है कि कई रूट पर पर्याप्त ट्रेनें नहीं है और रिजर्वेशन टिकट का वेटिंग पीरियड दो से तीन महीने तक का है।

 जानें- देश में अभी क्या है कोरोना की स्थिति

आपको बता दें कि देश में कोरोना वायरस का संकट तेजी से बढ़ रहा है और अब कुल मामलों की संख्या 61 लाख को पार कर गई है। भारत में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की संख्या में जल्द एक लाख के आंकड़े को छू लेगी। अभी औसतन देश में रोज 90 हजार से अधिक केस रिकॉर्ड हो रहे हैं, जबकि एक हजार से अधिक मौतें हो रही हैं।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy